कांग्रेस की चिंता छोड़ अपना राजधर्म निभाए सरकार, अपनी कमियों के ठीकरा विपक्ष पर न फोड़े: मुकेश अग्निहोत्री

लॉक डाउन करना आसान खोलने में कई पेचीदगियां, सरकार जो भी फैसला लेगी विपक्ष है साथ

555

आदर्श हिमाचल ब्यूरो

शिमला। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने भाजपा नेताओं के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस की चिंता छोड़ प्रदेश सरकार अपना राजधर्म निभाए। इस वक़्त सरकार की प्राथमिकता कोरोना से निपटना होना चाहिए। साथ ही बाहरी राज्यों में फंसे लाखों हिमाचलियों को किस तरह यहां लाया जाए, इसकी चिंता सरकार को होनी चाहिए।  साथ ही राज्य को आर्थिक तौर पर कैसे खड़ा किया जाए, ये भी सोचना चाहिए।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस की चिंता छोड़ अपना राजधर्म निभाए सरकार, अपनी कमियों के ठीकरा विपक्ष पर न फोड़े: मुकेश अग्निहोत्री

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने ये बात शुक्रवार को शिमला में पत्रकारों से एक अनौपचारिक बातचीत के दौरान कही। उन्होंने कहा कि विपक्ष वैश्वविक माहामारी कोरोना के दौर में राजनीति नहीं करना चाहता लेकिन ये जरूर चाहता है कि जो लोग आज सत्ता पर काबिज हैं और फैसले लेने के लिए सक्षम हैं, वे अपना राजधर्म निभाएं।

उन्होंने कहा कि विपक्ष की अपनी जिम्मेदारी है और सरकार अपनी कमियों का ठीकरा विपक्ष पर फोडऩे का जो प्रयास कर रही है वह होने वाला नहीं है तथा लॉकडाऊन में विपक्ष के मुंह में भी तालाबंदी हो जाए, ऐसा नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि यह समय संवेदनशील है, ऐसे में सरकार को पूरे संयम और सब्र के साथ काम करने की आवश्यकता है। प्रदेश से बाहर फंसे लोगों की आवाज बनकर विपक्ष ने उनको प्रदेश लाने का मामला उठाया क्योंकि अन्य राज्यों की सरकारें भी अपने लोगों को विभिन्न राज्यों से ले गईं लेकिन प्रदेश भाजपा को विपक्ष के मुद्दे को उठाए जाने से दिक्कत हो गई, जिसके चलते भाजपा नेता विपक्ष पर तथ्यहीन ब्यानबाजी कर संकट की इस घड़ी में राजनीति करने करने का प्रयास कर रहे हैं।

 

उन्होंने कहा कि सरकार कह रही है कि केंद्र ने हिमाचल को 1899 करोड़ रु पए जारी किए जबकि ये हिमाचल का हिस्सा है जो उसे मिलना ही है। उन्होंने कहा कि सरकार की बातों में कुछ तो सच्चाई होनी चाहिए। सरकार को ये बताना चाहिए कि प्रदेश को केंद्र ने अलग से क्या दिया, लेकिन इस पर कोई जवाब नहीं आता है

कहा कि, लॉकडाऊन करना आसान था लेकिन लॉकडाऊन खोलने में कई पेचीदगियां हैं। प्रदेश सरकार इस बारे जो निर्णय लेगा विपक्ष उसके साथ है। केंद्र ने गाइडलाइन जारी करते हुए भी कई चीजें स्पष्ट की हैं।

loading...
Learn Everyday