परिवहन निगम हिमाचल में बस चलाने की तैयारी में, इन बातों का रखा जाएगा विशेष ध्यान

337

आदर्श हिमाचल ब्यूरो

शिमला। कोरोना वायरस के बीच एचआरटीसी ने बसें चलाने की योजना बना ली है। सरकार के आदेश मिलने के बाद बसों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। 50 फीसदी सवारियों के साथ बसों का संचालन के लिए एचआरटीसी ने तीन के बेंच पर 2 सवारियां और दो के बेंच पर एक ही सवारी को बैठाने की योजना बनाई है। तीन के बेंच में बीच वाली सीट और दो के बेंच पर किनारे वाली सीट पर क्रॉस के निशान वाले पोस्टर लगाए जाएंगे। बसों में सीट नंबर एकए दो और तीन पर यात्रियों के बैठने पर रोक रहेगी। ड्राइवर के केबिन की तर्ज पर सीट नंबर 1, 2, 3 को कवर करने की योजना है।

कोरोना का कहर! हमीरपुर की 62 वर्षीय महिला कोरोना पाॅजिटिव, आईजीएमसी शिमला में दाखिल

रूट पर जाने से पहले बसें वर्कशॉप में सैनिटाइज की जाएंगी। इसके बाद बस स्टैंड में पहुंचेगी। रूट से वापस लौटने पर 8 घंटे बाद फिर बसों को सैनिटाइज किया जाएगा। सैनिटाइजेशन के लिए एचआरटीसी ने डिपो स्तर पर बैटरी से चलने वाली सैनिटाइजेशन मशीनें खरीदकर उपलब्ध करवा दी हैं।

हर डिपो को दो-दो मशीनें उपलब्ध करवाई गई हैं। बसों का संचालन शुरू करने से पहले अड्डों को भी सैनिटाइज किया जाएगा। इसके लिए एचआरटीसी ने लिखित में सरकार को बसों के संचालन की घोषणा के बाद 3 दिन का समय देने का आग्रह किया है। एचआरटीसी के अधिकारियों का कहना है कि सरकार की ओर गाइडलाइंस जारी होने का इंतजार है। अपने स्तर पर सभी तैयारियां कर ली हैं। 30 सीटर बस में बैठेंगी 15 सवारियां 37 सीटर बस में बैठेंगी 18 सवारियां 47 सीटर बस में बैठेंगी 23 सवारियां ।

शुरू होने के बाद कंडक्टर को सवारियों के हाथ सैनिटाइज करवाने का जिम्मा सौंपा जाएगा। बस में सवार होने से पहले कंडक्टर सभी सवारियों के हाथ सैनिटाइज करवाएगा। बस के चढ़ने पर कंडक्टर सवारियों को टिकट जारी करेगाए उस समय दोबारा यात्रियों के हाथ सैनिटाइज करवाए जाएंगे।

loading...
Learn Everyday