भारत बंद: सभी किसान यूनियनों का दावा, कल हिमाचल भी रहेगा पूरा बंद, जिला मुख्यालयों व उपमंडल स्तर पर होंगे प्रदर्शन

निजी बस आपरेटर्स ने खुद को रखा बंद से अलग, चलेगा परिवहन

आदर्श हिमाचल ब्यूरो

शिमला। संयुक्त किसान मोर्चा और भारतीय किसान यूनियन ने 27 सितंबर यानी सोमवार को भारत बंद का आह्वान किया है। हिमाचल में भी सभी छोटी-बड़ी किसान यूनियनों ने इस बंद का समर्थन करने का फैसला किया है। हालांकि प्रदेश प्राईवेट बस आपरेटर्स ने अपनी बस सेवाओं को चालू रखने का निर्णय लिया है। वे बंद का हिस्सा नही बनेंगे।

 

खबर है कि पूरा हिमाचल इस बंद में किसानों-बागवानों का साथ देगा। सोमवार को शिमला से ठियोग, कुमारसेन, रोहडू मे व्यापार मण्डल भी हिमाचल बंद का साथ देगा। वहीं सोलन, मंडी से भी सभी किसान संगठन संयुक्त किसान मोर्चा और भारतीय किसान यूनियन के साथ कन्धे से कंधा मिलाकर साथ है। कांगडा मे इंदौरा, पालमपुर, ज्वाली से भी किसान एकत्रित है।

 

वहीं अक्तूबर के पहले सप्ताह में ठियोग में सभी बागवानों के साथ भारतीय किसान यूनियन एक महत्वपूर्ण बैठक करने जा रही है। इस बैठक में संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय स्तर के नेता व हिमाचल किसान नेता भाग लेंगे।

 

वहीं हिमाचल से संयुक्त किसान मंच ने दावा किया है कि शिमला के अलावा सोलन, सिरमौर, कुल्लू, मंडी और चंबा जिले में उन्हें व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है, जबकि अन्य जिलों में भी बंद का असर रहेगा। किसानों-बागवानों के अलावा व्यापारी, ट्रांसपोर्टर, छात्र, मजदूर और नौजवान भी साथ दे रहे हैं।

 

सोमवार को हिमाचल बंद के दौरान प्रदेश में बाजार बंद रहेंगे और जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन होंगे। संयुक्त किसान मंच का दावा है कि शिमला के अलावा सोलन, सिरमौर, कुल्लू, मंडी और चंबा जिले में उन्हें व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है, जबकि अन्य जिलों में भी बंद का असर रहेगा। किसानों-बागवानों के अलावा व्यापारी, ट्रांसपोर्टर, छात्र, मजदूर और नौजवान भी साथ दे रहे हैं।

 

रोहड़ू
रोहड़ू

छौहारा वैली एप्पल सोसायटी के प्रधान संजीव ठाकुर ने कहा कि सोमवार सुबह रामलीला मैदान रोहड़ू में सभी बागवान-किसान एकत्रित होंगे और वहां से पूरे बाजार में रैली निकाली जाएगी। उन्होंने कहा कि उन्होंने सभी व्यापारियों ने एक घंटे के लिए सांकेतिक तौर पर बाजार बंद रखने का आह्वान किया है और व्यापारियों से उन्हें पूर्ण सहयोग की अपेक्षा है।

ठियोग कुमारसैन से विधायक राकेश सिंघा ठियोग और कुमारसैन में सोमवार को दुकानें बंद रख समर्थन देने का आह्वान कर चुके हैं। कोटखाई में सुशील चौहान और प्रताप चौहान, जुब्बल में जय सिंह जेहटा और मेहर सिंह, ठियोग में पूर्व जिला परिषद सदस्य सोहन ठाकुर, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राजेंद्र वर्मा और संजीव हिमाचल बंद को लेकर समर्थन जुटा रहे हैं। मंच के प्रदेश सह संयोजक संजय चौहान ने बताया कि संयुक्त किसान मोर्चा के अलावा व्यापारी, छात्र, मजदूर सहित अन्य सभी संगठन हिमाचल बंद में सहयोग देंगे। सरकार की मनमानी से कृषि बागवानी संकट में है, इसे कॉरपोरेटों के हाथ में सौंपने पर महंगाई बढ़ेगी जिससे लोगों की जेब में पैसा नहीं रहेगा और कारोबार प्रभावित होगा।

वहीं भारतीय किसान यूनियन और संयुक्त किसाम मोर्चा ने इस बंद में सभी से भाग लेने का आह्वान किया है और कहा कि ये उनकी अपनी लड़ाई है। अपनी बात को लिखित रूप में अपने संबंधित एसडीएम या जिलाधीष के माध्यम से मुख्यमंत्री को भी प्रेषित किया जा सकता है।