लाकडाउन: कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच हिमाचल सरकार ने लोगों से मांगी राय, आप भी एक अगस्त तक दे सकते हैं अपनी राय

सरकार की 'मॉय गोव' एप पर लोग दे रहे सुझाव, पोल के पूरा होने के बाद लेंगे मुख्यमंत्री फैसला

आदर्श हिमाचल ब्यूरो
शिमला। प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रण के मामलों के बीच सरकरा ने सरकार लॉकडाउन के संबंध में आम लोगों से राय मांगी है। पिछले 36 घंटे में दिए सुझावों में 88 फीसद लोग पूर्ण लॉकडाउन के पक्षधर हैं, जबकि 12 फीसद ने इन्कार किया है। इसके आलावा 70 फीसद हफ्ते में शनिवार व रविवार को लॉकडाउन लगाना चाहते हैं। 25 जुलाई को प्रदेश सरकार ने ‘मॉय गोव’ एप पर राज्य में पूर्ण लॉकडाउन और दो दिन का लॉकडाउन लगाने के बारे में सुझाव मांगे थे। हिमाचल के लोग अपना मत पहली अगस्त तक दे सकते हैं। इसके बाद सरकार सुझावों के आधार पर निर्णय लेगी।
सोमवार को हिमाचल प्रदेश सचिवालय कर्मचारी संघ ने भी राज्‍य में कुछ दिन के लिए लॉकडाउन लगाने की मांग की है। अब लोगों के विचार जानने के बाद सरकार पहली अगस्‍त को या इसके बाद फैसला ले सकती है।

यह भी पढ़ें: पूरे भारत में कांग्रेस ने घेरे राजभवन, हिमाचल में भी केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ हिमाचल कांग्रेस का जोरदार प्रदर्शन

Ads
हिमाचल माई जीओवी वेब पोर्टल पर सरकार ने इसके लिए एक पोल शुरू किया है, जिसमें लोगों से संपूर्ण प्रदेश में लॉकडाउन और वीकेंड लॉक करने को लेकर सवाल पूछा है। इन दोनों ही सवालों पर लोग अपना वोट 1 अगस्त तक दे सकते हैं। इस पोल के परिणाम का अध्ययन कर सरकार हिमाचल में लॉकडाउन लगाने पर फैसला लेगी।
बता दें कि पिछले कुछ दिनों में प्रदेश के लाहौल-स्पीति को छोड़कर बाकी सभी जिलों में कोरोना के पॉजिटिव मामले सामने आ रहे हैं। अब तक 12 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि दो हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। हालात हाथ से निकलने से पहले ही सरकार ने पूर्ण लॉकडाउन को लेकर जनता का मन टटोलने के लिए पोल आयोजित किया है।
मुख्यमंत्री के आईटी प्रबंधन किशोर शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री लोगों के मन की बात जानना चाहते थे, ताकि उसके आधार पर सरकार लॉकडाउन को लेकर कोई फैसला ले सके। अब इस पोल के रिजल्ट के बाद उसे मुख्यमंत्री से साझा किया जाएगा, जिसके बाद वह किसी निर्णय पर मुहर लगाएंगे।