केंद्र सरकार की असफलता से कम्यूनिटी स्प्रेड की ओर बढ़ रहा है देशः कुलदीप राठौर

विकट परिस्थिति से गुजर रहा है देश, यज्ञ, थाली और ताली से कोरोना नहीं भागेगा

कोरोना के मामले बढ़ाने में केंद्र और राज्य सरकार जिम्मेवार

आदर्श हिमाचल ब्यूरो 
शिमला। हिमाचल कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार कोविड-19 को रोकने में पूरी तरह असफल रही। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर देश तीसरे पायदान पर है और रैंक में 178वें स्थान पर पहुंच गया है। आज हम भयानक परिस्थिति से गुजर रहे है कि देश में कोरोना कम्यूनिटी स्प्रेड की ओर तेजी से बढ़ रहा है।
सोमवार को यहां पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए राठौर ने कहा कि पहले प्रधानमंत्री ने थाली और ताली बजाकर कोरोना को भगाने की बात कही। अब यज्ञ कर देवी-देवताओं के नाम पर प्रदेश से कोरोना भगाने की राजनीति हो रही है। इसी कारण से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं।
उन्होंने कहा कि समय रहते सरकारों ने कदम उठाए होते तो यह स्थिति उत्पन्न ना होती। कोरोना काल में केंद्र सरकार राजनीति करती रही। नमस्ते ट्रंप और मध्यप्रदेश सरकार को गिराने में एक माह बिता दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि अब राज्यस्थान सरकार को गिराने का प्रयास कर रही है। पीएम और सीएम अब कोरोना के साथ जीना की बात कह रहे हैं।
यह भी पढ़ें : कोरोना अपटेड: आईटीबीपी के 18, सेना के 9 जवानों सहित प्रदेश के सात जिलों से आए 46 नए मामले, संक्रमितों का कुल आंकड़ा पंहुचा 1567
उन्होंने कहा कि सरकार आज अध्यादेश ला रही है जिसका हम स्वागत करते हैं। अगर यह सख्ती पहले होती तो कोरोना का मामला ना बढ़ते। कोरोना को लेकर सरकार की लापरवाही ने समूचे देश और प्रदेश को खतरे में डाल दिया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के गलत फैसलों से भारी नुकसान पहुंचा है। नोटबंदी और जीएसटी जैसे निर्णय से देश की आर्थिकी तहस नहस हुई है।
उन्होंने कहा कि यज्ञ में देवी देवताओं के फोटो से ऊपर नेताओं के फोटो लगा कर भाजपा ने हमारी धार्मिक आस्था पर चोट पहुंचाई है। इसके साथ ही यज्ञ में मुख्यमंत्री सहित भाजपा ने डब्ल्यूएचओ के नियमों की धज्जियां उड़ाई, उन पर भी एफआईआर दर्ज होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राजनीति के लिए देवी देवताओं का मजाक नहीं उड़ाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हजारों लोग इन दिनों प्रदेश में बिना परमिशन के है और सरकार के पास कोई इसका आंकडा नहीं है।

Ads

मजदूरों को लेकर सरकार ने हाथ किए खड़े

कुलदीप राठौर ने कहा कि सेब सीजन शुरू हो गया है और सरकार के लेवर को लेकर हाथ खड़े कर दिए है। उन्होंने कहा कि सरकार मजदूरों की कमी को दूर करे। मंडियों में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए समुचित प्रबंध किए जाएं, क्योंकि सेब सीजन में बागवान परेशान हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 5000 करोड़ की आर्थिकी पर चोट पहुंचाई है।

बसों में सोशल डिस्टेंसिंग नहीं

उन्होंने आरोप लगाया कि बसों में कोई सोशल डिस्टेंसिंग नहीं है। इसलिए बसों में लिखना चाहिए कि सवारी अपनी जान की खुद जिम्मेदार है।