प्रदेश कांग्रेस कमेटी में कांग्रेस विधि विभाग पदाधिकारियों को मिले प्राथमिकता, विभाग को सक्रिय करने की मांग

शिमला: चुनाव का समय नज़दीक होने के चलते कांग्रेस पार्टी की मेहनत सभी विधानसभा क्षेत्रों में देखने को मिल रही है। कांग्रेस के बड़े नेता सभी जिलों में घूम कर अपने कार्यकर्ताओं में प्राण फूंकने का काम कर रहे हैं। बात करे कांग्रेस पार्टी के विधि विभाग की तो संगठन को फिर से सक्रिय करने के लिए पदाधिकारी सभी जिलों में सक्रीयता से काम कर रहे हैं। कांग्रेस पार्टी विधि विभाग के कार्यकारी अध्यक्ष प्रणय प्रताप सिंह इन दिनों राज्य के दौरे पर है।

कुल्लू, लाहौल-स्पीति, मंडी, बिलासपुर आदि जिलों का दौरा करने के बाद वे कांगड़ा जिले के दौरे पर हैं। प्रणय प्रताप सिंह ने नूरपुर, ज्वाली, कांगड़ा, पालमपुर, बैजनाथ और धर्मशाला आदि स्थानों पर विभाग से जुड़े नेताओं के साथ बैठकें कर संगठन को चुस्त-दुरूस्त करने पर जोर दिया। उन्होंने कांग्रेस विचारधारा से जुड़े अधिवक्ताओं के साथ भी बैठकें की। इन बैठकों में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किए गए कि कांग्रे स विधि विभाग के पदाधिकारियों को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के विभिन्न पदों पर प्राथमिकता दी जाए। साथ ही पार्टी के अन्य विभागों की तरह इसे भी और सक्रिय किया जाए। इन बैठकों में कांग्रेस से जुड़े अधिवक्ताओ का कहना था कि जो अधिवक्ता कांग्रेस विचारधारा को आगे बढ़ाने के लिए मेहनत करते हैं, उन्हें पार्टी में उचित प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए। 
प्रणय प्रताप सिंह ने संपर्क करने पर बताया कि वे जिलों के दौरे पर हैं और इस दौरान पार्टी से जुड़े अधिवक्ताओं के साथ बैठकें कर रहे हैं। इस दौरान जिला व ब्लाक की विभाग की इकाइयों के पदाधिकारियों के साथ भी बैठकें की गई हैं। उन्होंने कहा कि इस दौरान उन्होंने कांगड़ा जिले के कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेताओं से भी बातचीत की और विधि विभाग की गतिविधियों पर चर्चा की।