किन्नौर भूस्खलन: मार्ग हुआ अवरुद्ध, 100 से 120 लोग अभी भी हैं फंसे

शिमला: हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में भारी बारिश की वजह से रविवार को जो भूस्खलन हुआ था उसमें गाड़ी के चालक समेत 8 पर्यटकों की जान चली गई, वहीं तीन लोग बेहद गंभीर रूप से घायल हुए हैं इसी बीच भूस्खलन की वजह से अभी भी लगभग 100 से 120 लोग वहीं फंसे हैं.

फंसे हुए लोगों में ना केवल सिर्फ पर्यटक है बल्कि स्थानीय लोग भी शामिल है. जिले में भारी बारिश की चेतावनी के साथ प्रशासन की चिंताएं बढ़ गई हैं. जहां एक और फंसे हुए लोगों को निकालना है, वहीं दूसरी और रास्ते को साफ कर फिर से सुचारू करना है.

यह भी पढ़े: किन्नौर हादसा: पीएम मोदी ने मृतकों के परिजनों को 2 लाख मुआवजे देने की घोषणा की

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को कहा कि लगभग  100 से 120 लोग अभी भी वहां फंसे हुए हैं, जिनमें पर्यटक और स्थानीय लोग शामिल हैं. हम उन्हें बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं.

यह भी पढ़े: किन्नौर भूस्खलन: एक ही परिवार के 3 सदस्य, एक डॉक्टर और नौसना के लेफ्टिनेंट की मौत

बता दें कि बीते रविवार किन्नौर जिला बस्तरे के निकट रविवार को पर्यटक को को लेकर जा रही टेंपो ट्रैवलर भूस्खलन के बाद गिर रहे भारी चट्टानों की चपेट में आ गई थी. यह हादसा एक बजकर 25 मिनट पर हुआ था. जिसमें 9 लोगों की मौत हो गई. भारी चट्टानों के गिरने की वजह से एक पुल भी ढह गया और कुछ गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा है.